Home » Good Morning Shayari » Subah Ki Pehli Kiran
subah ki pehli kiran morning shayari

Subah Ki Pehli Kiran

ताजी-ताजी हवाएं फूलों की महक फैला रही हैं,
सुबह की पहली किरण के साथ चिड़िया चहचहा रही हैं,
उठ जाओ और देख लो तुम भी इन नजारो को,
जगाने तुम्हे खुद इस संसार की हर ख़ुशी आ रही है।
शुभ प्रभात!!

Taaji-taaji hawayen phoolon ki mehak faila rahi hain,
Subah ki pehli kiran ke saath chidiya chehchaha rahi hain,
Uth jaao aur dekh lo tum bhi in nazaaron ko,
Jagaane tumhe khud is sansaar ki har khushi aa rahi hai…
Shubh Prabhat!!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *